• joinswadeshi2020@gmail.com
  • +91-9318445065
1:26 pm June 19, 2024

कुछ यूं कमाता है अपना भारत!!!

परसों मैं व कश्मीरी लाल जी दिल्ली के चाणक्यपुरी इलाके में टहल रहे थे। तभी हमने देखा कि सड़क के किनारे पटरी वाले ने विभिन्न प्रकार का सामान बेचने के लिए लगाया हुआ था। कश्मीरी लाल जी को शेविंग ब्लेड लेना था तो सोचा उससे बातचीत ही की जाए।

मैंने उससे पूछा “कब से यह काम कर रहे हो? कितने बच्चे हैं? कितना कमा लेते हो,पुलिस वाले तंग करते हैं क्या?

तो उमाकांत बोला मैं मूलतः बरेली का रहने वाला हूं।किंतु 18-19 साल से दिल्ली में यह पटरी पर सामान लगाता हूं।

“बाबूजी! भगवान की कृपा है मुझे कोई ऐब नहीं है। इसी कमाई से मैंने अपने तीन बच्चों को अच्छा पढ़ा लिया है। बड़ी लड़की और लड़का अब ₹20-20000 की नौकरी कर रहे हैं। 40 गज का अपना मकान भी बना लिया है।

मैंने पूछा “कमाई कितनी है?”

तो वह बोला प्रतिदिन तीन-साढ़े तीन हजार ₹ की सेल हो जाती है।रुपए 800 से 1000 तक की कमाई।

अब पुराना हो गया हूं। इसलिए पुलिस वाले अब कम तंग करते हैं। बाकी धार्मिक आदमी हूं कोई खर्चे ज्यादा है नहीं कुल मिलाकर जिंदगी में बड़ी संतुष्टि है।”

बाद में कश्मीरी लाल जी व मैं बातें करने लगे कि भारत में ऐसे लाखों नहीं,करोड़ों लोग हैं जिनके लिए सरकार ने कुछ नहीं किया।अपने कर्तृत्व व पुरुषार्थ के आधार पर बहुत अच्छे ढंग से अपना परिवार का भरण पोषण कर रहे हैं।

स्वदेशी को ऐसे ही लोगों को भावात्मक तथा सकारात्मक तरीके से आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना है।प्रशासन-पुलिस इन लोगों के लिए भले कुछ ना करे, पर इनको तंग मत करे। यही बड़ा योगदान पर्याप्त है।” स्वदेशी के कार्यकर्ताओं को इन छोटे लोगों का ध्यान रखना ही है। आखिर स्वदेशी आंदोलन इस देश के गरीबों,मजदूरों,बेरोजगारों के लिए ही तो प्रयत्नरत है। नीचे:कश्मीरी लाल जी व उस छोटे दुकानदार के साथ #सतीश कुमार

Author: swadeshijoin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

insta insta insta insta insta insta