• joinswadeshi2020@gmail.com
  • +91-9318445065
7:03 am August 22, 2023

#स्वदेशीचिठ्ठी ऐसे कार्यकर्ता ही स्वदेशी की वास्तविक शक्ति हैं।

#स्वदेशीचिठ्ठी
ऐसे कार्यकर्ता ही स्वदेशी की वास्तविक शक्ति हैं।
आज मैं जबलपुर में महाकौशल प्रांत के स्वदेशी कार्यकर्ताओं की बैठक ले रहा था।स्वदेशी शोध संस्थान के लिए एक-एक कर कार्यकर्ता अपनी अपनी घोषणा कर रहे थे।
तभी सतना जिले के संयोजक अरुण जी आये और फोटो खिंचवाने में संकोच करते हुए बोले कि यह ₹31000 का मेरा योगदान। बाकीयों की तुलना में यह अधिक था तो मैंने कहा “आप करते क्या हैं?”
उन्होंने कहा “मैं सेवानिवृत्त इंजीनियर हूं,पेंशन आती है।मैंने साल में 1 महीने का देना ही है।
मैंने कहा “देना ही है का मतलब?”
वह बोले “मैंने 1983 में सरकारी नौकरी शुरू की तब से ही आज तक वर्ष की एक महीने का वेतन मैं पहले रक्षा फंड में देता था। सारा जीवन यही किया। और सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन का भी यही नियम है। वर्ष में एक महीने की पेंशन देश समाज के नाम,तो इस बार की स्वदेशी शोध संस्थान के नाम।”
सब ने ताली बजाई एक बात उन्होंने और कही “यद्यपि मैं पीडब्ल्यूडी में इंजीनियर रहा,किंतु जीवन भर एक रुपया भी गलत तरीके का नहीं लिया। जबकि वहां यह बड़ा सहज था।”
बाकी सब ने भी कहा कि हां! यह इनकी ईमानदारी पूरे विभाग में प्रसिद्ध रही है।”
मैंने सब कार्यकर्ताओं को कहा “खड़े होकर, ताली बजाकर अभिनंदन करिए।” स्वदेशी को अपने ऐसे कार्यकर्ताओं पर गर्व होता ही है।,~सतीश कुमार
नीचे: बैठक में अरुण जी भारतीय अपना चेक देते

Author: swadeshijoin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

insta insta insta insta insta insta